प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 – तीसरे चरण में 1 करोड़ युवाओं को किया जाएगा प्रशिक्षित

केंद्र सरकार अगले वित्त वर्ष से प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PM Kaushal Vikas Yojana 3rd Phase) का तीसरा चरण शुरू करने जा रही है जिसका मकसद 1 करोड़ युवाओं को प्रशिक्षित करके रोजगार उपलब्ध कराना है। यह सरकारी योजना अप्रैल 2020 में शुरू होगी। जिसकी जानकारी कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेन्द्र नाथ पांडे ने दी। समय के साथ नई-नई तकनीक आती जा रही हैं जिसके लिए युवाओं को प्रशिक्षण देना जरूरी है इसकी उद्देश्य को लेकर मोदी सरकार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 3.0 (PM Kaushal Vikas Yojana 3rd Phase in FY 2020-21) लेकर आ रही है। जिसमें युवाओं को पंजीकृत प्रशिक्षण केन्द्रों में ट्रेनिंग दी जाएगी।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण (PM Kaushal Vikas Yojana 3.0) यह सुनिश्चित करेगा की युवाओं को नई-नई तकनीकों में ट्रेनिंग मिले जिससे आगे आने वाले समय में नौकरियों पर वे अपनी दावेदारी दे सके। 11 नवंबर तक निकाले गए सरकार के आकड़ों के अनुसार प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (PM Kaushal Vikas Yojana 2.0) के पिछले चरण में 69 लाख युवाओं को ट्रेनिंग दी गई थी और उनमें से लगभग सभी को नौकरी मिल गई था या फिर अपना रोजगार शुरू कर लिया था।

पीएम कौशल विकास योजना (PMKVY 2.0) को वर्ष नरेंद्र मोदी सरकार ने वर्ष 2015 में शुरू किया था।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 2020 – तीसरा चरण

मौजूदा योजना के विस्तार के बारे में पूछने जाने पर कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री ने को बताया, “हम मौजूदा समय में चल रही योजना के तहत 90 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लेंगे। जैसा की आप सभी जानते हैं कि मोदी सरकार 2014 सत्ता में आई थी तब उन्होने अपने मुख्य कार्यों में युवाओं को प्रशिक्षित करना, महिला सुरक्षा, रोजगार विकसित करना आदि का लक्ष्य रखा था और अब वे प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना का तीसरा चरण (PMKVY 3.0) लाने जा रहें है जो नई तकनीकों के प्रशिक्षण को पेश करेगी। पीएम कौशल विकास योजना की जॉब रोल सूची आप नीचे पीडीएफ़ में देख सकते हैं।

उन्होंने यह भी बताया की पीएम कौशल विकास योजना 3.0 (PM Kaushal Vikas Yojana 3rd Phase) में नए कोर्स जोड़े जाएंगे इसके साथ ही नए संस्थानों को भी इसमें जोड़ा जाएगा और जो कंपनियाँ युवाओं को ट्रेनिंग देने में अपना योगदान देना चाहती हैं उनका पूरी तरह से स्वागत है। केंद्रीय मंत्री ने सार्वजनिक क्षेत्र और निजी क्षेत्र की कंपनियों से प्रशिक्षु (अप्रेंटिसशिप) कार्यक्रम पर जोर देने के लिए कहा है। उन्होंने कहा, “मैं आश्वासन देता हूं कि मेरा मंत्रालय हर प्रकार की सहायता करेगा। कंपनियों को कदम आगे बढ़ाना होगा और प्रशिक्षु कार्यक्रम को बढ़ावा देने पर भी कार्य करेगा।

 

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *